मुख्यमंत्री धामी ने दी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सौगात प्रदेश सरकार ने 33 हजार..

उत्तराखंड

मुख्यमंत्री धामी ने दी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सौगात..

मुख्यमंत्री धामी ने दी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सौगात..

चांदी का मुकुट पहनाकर किया सीएम का स्वागत..

दो लाख की वार्षिक दुर्घटना बीमा पॉलिसी..

 

 

 

 

प्रदेश सरकार ने 33 हजार से अधिक आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बीमा के साथ खाद्यान्न की सौगात दी है। सोमवार को सनातन धर्म इंटर कॉलेज रेसकोर्स में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ओर से आयोजित अपने आभार समारोह में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घोषणा की

 

 

उत्तराखंड: प्रदेश सरकार ने 33 हजार से अधिक आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बीमा के साथ खाद्यान्न की सौगात दी है। सोमवार को सनातन धर्म इंटर कॉलेज रेसकोर्स में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ओर से आयोजित अपने आभार समारोह में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इसकी घोषणा की।

उनका कहना हैं कि सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दो लाख की वार्षिक दुर्घटना बीमा पॉलिसी उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा जिन लोगों पर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू नहीं होता है, उन्हें दिसंबर 2021 से मार्च 2022 तक हर महीने 20 किलोग्राम खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाएगा।  मुख्यमंत्री का कहना हैं कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मासिक मानदेय डिजिटल तरीके से सीधे उनके खाते मे दिया जाएगा। इसके साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के 25 फीसदी पद ऐसी आंगनबाड़ी सहायिकाओं से भरे जाएंगे, जिनकी विभाग में 10 साल की संतोषजनक सेवा पूरी हो चुकी है और जो इसके लिए आवश्यक शैक्षिक योग्यता पूरी करती हो।

मुख्यमंत्री का कहना हैं कि महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग की ओर से आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से सेनेटरी नैपकिन के लिए जो एक रुपये का भुगतान करना पड़ता था उसे भी निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के निर्माण में मातृशक्ति की बड़ी भूमिका है, महिला सशक्तीकरण की दिशा में राज्य सरकार की ओर से कई कार्य किए जा रहे हैं। राज्य सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाकर उनके ऋण को चुकाने का प्रयास किया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विपरीत परिस्थितियों में किस तरह से कार्य करती हैं, वह सब बखूबी जानते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके दोनों बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा भी आंगनबाड़ी केंद्र में ही हुई है।

 

 

ये भी पढ़े – भारत ने तोड़ा छह साल पुराना रिकॉर्ड, टेस्ट में हासिल की सबसे बड़ी जीत..

इसके साथ ही कि कोरोना काल के बाद सरकार के पास आय के संसाधनों में कमी आई है, लेकिन इसके बावजूद सरकार ने मानदेय बढ़ाने में कंजूसी नहीं की। सरकार ने आजीविका से जुड़ी प्रदेश की महिलाओं को मजबूत करने के लिए 119 करोड़ रुपये का कोविड राहत पैकेज जारी किया। इसके अलावा सरकार ने आशा, उपनल समेत तमाम विभागों में कार्यरत कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाया है।

कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि प्रदेश में होने वाली विभिन्न गतिविधियों में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का अहम योगदान होता है। आंगनबाड़ी बहनों के हित में राज्य सरकार द्वारा हरसंभव कार्य किए जा रहे हैं। महिला एवं बाल विकास के क्षेत्र में केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं।

 

 

 

 

 


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top