तेज रफ्तार बस अलकनंदा नदी में समाने से बाल-बाल बची, टला बड़ा हादसा...
उत्तराखंड

तेज रफ्तार बस अलकनंदा नदी में समाने से बाल-बाल बची, टला बड़ा हादसा…

तेज रफ्तार बस अलकनंदा नदी में समाने से बाल-बाल बची, टला बड़ा हादसा…

तेज रफ्तार बस हाईवे किनारे लगे मेटलबीन क्रश बैरियर से टकरा कर रुकी, टला बड़ा हादसा…

उत्तराखंड : ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग जा रही तेज रफ्तार बस क्रश बैरियर से टकराकर रुक गई। इस तरह एक बड़ी दुर्घटना होते-होते टल गई। घटना के वक्त बस में सिर्फ ड्राइवर और कंडेक्टर थे। अगर बस हाईवे किनारे लगे मेटलबीन क्रश बैरियर से टकरा कर रुकी ना होती, तो सीधे अलकनंदा नदी में चली जाती। बस के ड्राइवर और कंडेक्टर हादसे के टलने को ईश्वर का चमत्कार कह रहे हैं। चलिए आपको पूरी घटना बताते हैं।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को एक बस रुद्रप्रयाग की तरफ जा रही थी। तभी कलियासौड़ के पास चालक ने बस पर से नियंत्रण खो दिया। बस नदी में गिरने वाली थी। बेकाबू बस लगातार आगे बढ़ रही थी, कि तभी बस नेशनल हाईवे किनारे लगे मेटलबीन क्रश बैरियर से टकराकर रुक गई। बस का इस तरह से रुक जाना सचमुच चमत्कार ही है। अगर बस रुकी नहीं होती तो सीधे अलकनंदा नदी में समा जाती।

जिस जगह ये घटना हुई वो कलियासौड़ में हैड़ी के पास स्थित है। इस जगह को लोग गोवा बीच के नाम से जानते हैं। यहां नेशनल हाईवे से कुछ ही फुट नीचे अलकनंदा नदी बहती है। शुक्र है कि घटना के वक्त बस में कोई यात्री नहीं था। सिर्फ ड्राइवर और परिचालक ही थे। माना जा रहा है कि तेज रफ्तार से आ रही बस क्रश बैरियर से इतनी जोर से टकराई होगी कि मेटलबीन का बना क्रश बैरियर टायरों में फंस गया होगा।

जिससे बस रुक गई। घटना के वक्त बस की स्पीड बहुत ज्यादा थी। इसे ईश्वर का चमत्कार ही कहेंगे कि क्रश बैरियर ने बड़े हादसे को टाल दिया। बस ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग जा रही थी। पहाड़ी रास्तों पर वाहन चलाते वक्त अतिरिक्त रूप से सावधान रहें। तेज रफ्तार के जुनून को खुद पर हावी ना होने दें। आप हर दिन सड़क हादसों की खबरें पढ़ते होंगे, इनसे सबक लें और यातायात नियमों का पालन जरूर करें, क्योंकि चमत्कार रोज नहीं होते।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top