सुबह का भूला शाम को लौटा घर... - UK News Network
उत्तराखंड

सुबह का भूला शाम को लौटा घर…

डाॅ बोंहरा ने पुनः थामा भाजपा का दामन

पार्टी में शामिल होने पर कार्यकर्ताओं ने जताया प्रदेश नेतृत्व का आभार

दिल्ली में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत और उत्तराखण्ड प्रदेश प्रभारी ने दिलाई सदस्यता

रुद्रप्रयाग। सुबह का भुला यदि शाम को घर लौट आये तो उसे भुला नहीं कहते। यह कहावत इन दिनों रुद्रप्रयाग जिले के चाय की दुकानों, गली-मोहल्लों में खूब चर्चा का विषय बनी है। दरअसल, बोंहरा नर्सिंग होम के वरिष्ठ सर्जन एवं कांग्रेस नेता डाॅ आनंद सिंह बोंहरा ने पुनः भाजपा में शामिल होकर घर वापसी कर ली है। उनके भाजपा में शामिल होने के बाद से बाजारों में कई प्रकार की बातें हो रही हैं। राजनैतिक गलियारों में चर्चा बनी है कि कांग्रेस में उनकी कोई खैर-ख्वाह नहीं ले रहा था, जिस कारण उन्हें ऐसा बड़ा कदम उठाना पड़ा।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत और उत्तराखण्ड प्रदेश प्रभारी श्याम दाजू की मौजूदगी में सदस्यता दिलाई। बता दें कि जिले के वरिष्ठ सर्जन डाॅ आनंद सिंह बोंहरा एक बार फिर से भाजपा में शामिल हो गए हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में टिकट न मिलने पर डाॅ बोंहरा ने भाजपा जिलाध्यक्ष पद से त्याग पत्र देते हुए कांग्रेस का दामन थामा था। उनके साथ भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी भी कांग्रेस में शामिल हुए। उस समय दोनों नेताओं को लगा कि कांग्रेस से उनका टिकट हो जायेगा, मगर जिला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी राणा टिकट लाने में सफल रही और दोनों नेताओं को यहां भी मुंह की खानी पड़ी।

कांग्रेस में आने के बाद दोनों नेताओं ने भाजपा को जमकर खरी खोटी सुनाई और हर मंच पर कांग्रेस की तारिफ करते हुए पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में वोट की अपील की। देखने वाली बात यह भी थी कि जो नेता कल तक भाजपा में रहते हुए अनुशासन और भाजपा की रीति व नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने की बात कर रहे थे, वहीं टिकट न मिलने से इतने आक्रोशित हो गए कि उन्हें कांग्रेस का दामन थामना पड़ा और वे भाजपा के विरूद्ध प्रचार करने में लगे रहे। राजनैतिक गलियारों में कयास लगाये जा रहे थे कि कांग्रेस की प्रदेश में हार के बाद वरिष्ठ नेता डाॅ बोंहरा को बहुत बड़ा झटका लगा और वे भाजपा में आने को तरसने लगे। वे दो साल से लगातार प्रदेश नेतृत्व के संपर्क में भी थे और उनकी पार्टी में वापसी की बातचीत चल रही थी। अब अचानक से वे भाजपा में शामिल हो गए हैं तो हर जगह उनकी चर्चाएं चल रही हैं और कहा जा रहा है कि सुबह का भूला यदि घर लौट आए तो उसे भूला नहीं कहते। क्यों कि वह अपनी गलती को समझकर वापसी करता है। डाॅ बोंहरा भी भाजपा को छोड़ने के बाद अपनी गलती को समझ चुके थे और उन्होंने घर वापसी कर ली है।

दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय कार्यालय में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत और उत्तराखण्ड प्रदेश प्रभारी श्याम दाजू की मौजूदगी में सदस्यता दिलाई गई। वहीं डाॅ बोहरा के भाजपा में शामिल होने पर कई भाजपाइयों ने खुशी जातई है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने बताया कि डॉ बोहरा को पार्टी में शामिल कर दिया गया है। उन्हें पार्टी में फिर से सेवा करने का अवसर दिया गया है। भट्ट ने बताया कि रुद्रप्रयाग में एक बड़ा कार्यक्रम किया जाएगा। डाॅ बोहरा ने बताया की भारतीय जनता पार्टी एक अनुशासित पार्टी है। वह अब पार्टी के लिए निस्वार्थ भाव से के लिए कार्य करेंगे। पार्टी का जो भी मेरे लिए आदेश होगा में उसका हर हाल में पालन किया जाएगा। डाॅ बोंहरा के पार्टी में शामिल होने पर कई भाजपा कार्यकर्ताओं ने खुशी जताई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top