आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्री अपनी जिम्मेदारी को समझें: मंगेश - UK News Network
उत्तराखंड

आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्री अपनी जिम्मेदारी को समझें: मंगेश

सम्पूर्ण पोषण अभियान का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ

जनपद के कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को पोषण किट किये वितरित

रुद्रप्रयाग। राष्ट्रीय पोषण मिशन के अन्तर्गत संचालित जन आन्दोलन के रूप मे मनाये जा रहे सम्पूर्ण पोषण अभियान का जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर जनपद के 60 कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों के अभिभावक को पोषण किट, आंगनवाडी केन्द्रों में मानकानुसार वजन वाले 20 स्वस्थ बच्चों की फोटो भेजने वाली कार्यकत्रियों व 36 ऐसी अंागनबाड़ी कार्यकत्रियों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने अपनी बच्ची की सेल्फी मां व दादी के साथ भेजी थी।

इसके साथ ही सामाजिक क्षेत्र में जागरूकता कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाली जनपद की दस महिला मंगल दलों को दो हजार के चैक भी दिए गए। इस अवसर पर जिलाधिकारी, सीएमओ, डीपीओ, डीओपीआरडी सहित जनपद के अन्य अधिकारी, आशा कार्यकत्री, एएनएम व अंागनवाडी कार्यकत्रियों ने जनपद को कुपोषण मुक्त करने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया। इस अवसर पर एक्सल गु्रप ने नुक्कड नाटक व बाल विकास विभाग द्वारा वीडियो क्लिप के माध्यम से बेटियों के संरक्षण का संदेश दिया कि बेटियों को जन्म लेने व अपने जीवन जीने का अधिकार है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस आंगनवाडी कार्यकत्री द्वारा शिशुओं के जन्म से सम्बन्धित सर्वाधिक एन्ट्री की जाएगी।

प्रथम को पांच व द्वितीय को ढाई हजार की राशि ईनाम में दी जाएगी। इस अवसर पर लोगों को जानकारी दी कि आवश्यकता है कि गर्भ से ही शिशु स्वस्थ पैदा हो इसके लिए आंगनवाड़ी व आशा कार्यकत्री को अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन ईमानदारी से करना होगा। शिशु के जन्म लेते ही पहले घण्टे के भीतर स्तनपान कराया जाए। साथ ही छः माह तक स्तनपान कराना आवश्यक है। सातवें माह से पूरक खाने के साथ ही दो साल तक स्तनपान कराना चाहिए। जनपद के 60 अतिकुपोषित व कुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने के लिए अधिकारियों द्वारा बच्चे गोद लिए जा रहे हैं।

कहा कि कुपोषण अपने साथ नई-नई बीमारियां लेकर आता है, जरूरत है केवल समय पर पौष्टिक आहार कराने की। माह अप्रैल से आतिथि तक जन्म लेने वाली बच्चियों का खाता सुकन्या समृद्वि योजना के तहत विभाग द्वारा पांच सौ रूपये की धनराशि से खोला जाएगा। इस अवसर पर सीएमओ डाक्टर एसके झा, डीओपीआरडी केएन गैरोला, डीपीओ हिमांशु बडोला समेत समस्त आशा, आंगनबाडी व एएनएम उपस्थित थी। कार्यक्रम का संचालन केएस रावत ने किया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top