सातवीं आर्थिक गणना को मिशन मोड़ में संचालित करने के लिये फुलप्रुफ मैकनिज्म करे तैयार.. - UK News Network
उत्तराखंड

सातवीं आर्थिक गणना को मिशन मोड़ में संचालित करने के लिये फुलप्रुफ मैकनिज्म करे तैयार..

सीएससी प्रगणकों के क्रिया-कलापों पर रखी जायेगी नजर….

रुद्रप्रयाग। भारत एवं राज्य सरकार की महत्वपूर्ण सातवीं आर्थिक गणना को मिशन मोड में संचालित करने के लिये फुलप्रुफ मैकनिज्म तैयार करें, जिससे केन्द्र सरकार द्वारा नामित सीएससी के आर्थिक गणनाकारों पर पैनी नजर रखी जा सके। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने जिला कार्यालय कक्ष में सातवीं आर्थिक गणना के अन्तर्गत सीएससी द्वारा घर-घर जाकर की जाने वाली गणना की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सीएससी के प्रगणक द्वारा सभी 636 गांव में क्रिया-कलापों की गणना की जाएगी और प्रगणक घर-घर पहुंचे, इसकी निगरानी के लिये ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी को ग्राम पंचायतें आवंटित करना सुनिश्चित करें, जिससे जनपद में किये जा रहे क्रिया-कलापों के शत-प्रतिशत और सही आंकड़े प्राप्त हो सकें। उन्होंने कहा कि आर्थिक गणना दिसम्बर माह तक पूर्ण की जानी है, इसलिए एक सप्ताह में टाइम लाइन प्रोग्राम तय कर ग्रामीण क्षेत्र के लिये नामित कार्मिकों को प्रेषित करें।

उन्होंने कहा कि टाइम लाइन प्रोग्राम तय होते ही आर्थिक गणना में लगे सीएससी के प्रगणकों, सुपरवाईजरों एवं गांव में नामित वीएलई को मैप उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, जिससे समय से आर्थिक गणना पूर्ण हो सके।अर्थ एवं संख्याधिकारी एसके गिरी ने बताया कि सातवीं आर्थिक गणना के अन्तर्गत जनपद में किये जाने वाले आर्थिक क्रियाकलापों की गणना मोबाइल ‘एप’ के माध्यम से होनी है और प्रगणक घर-घर जाकर प्रत्येक परिवार के क्रियाकलापों की जानकारी उसमें दर्ज करेगा जिसकी निगरानी के लिये जीपीएस कोडिनेट फिक्स किये गये हैं। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में नगरीय क्षेत्र तत्पश्चात ग्रामीण क्षेत्रों में दिसम्बर अंत तक गणना पूर्ण की जायेगी। उन्होंने बताया कि कृषि विभाग, सरकारी क्षेत्र को छोड़कर असंगठित क्षेत्र में चल रहे कार्यांे की गणना सम्मिलित की जायेगी।

उन्होंने बताया कि नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के भवनों में हाउस नम्बर न होने पर भवनों को क्रमांक दिया जायेगा। जिलाधिकारी ने जनपद का डाटा शतप्रतिशत सही प्राप्त करने, सीएससी कंपनी के गणनाकारों पर पैनी रखने के निर्देश दिये जिससे गणना सही हो सके। जिलाधिकारी ने प्रगणकों को प्रत्येक घर की सेल्फी लेने के निर्देश दिये जिससे प्रत्येक घर की गणना की शिनाख्त हो सके। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सरदार सिंह चैहान, जिला पंचायत राज अधिकारी चमन सिंह राठौर, वरिष्ठ संख्याधिकारी एसएल चंद्रवाल, अपर संख्याधिकारी एसके सैनी, सीएससी से सुभाष नेगी, आशीष रावत, सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top