उत्तराखंड

आज वेद ऋचाओं के साथ खोले जायेंगे द्वितीय केदार मदमहेश्वर के कपाट..

आज वेद ऋचाओं के साथ खोले जायेंगे द्वितीय केदार मदमहेश्वर के कपाट..

अंतिम रात्रि प्रवास के लिए गौंडार पहुंची मदमहेश्वर की डोली..

 

 

 

रुद्रप्रयाग। द्वितीय केदार भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली सैकड़ों भक्तों की जयकारों के साथ अंतिम रात्रि प्रवास के लिए गौंडार गांव पहुंच गयी है। आज भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली ब्रह्म बेला पर गौंडार से प्रस्थान करेगी तथा विभिन्न यात्रा पड़ावों पर भक्तों को आशीर्वाद देते मदमहेश्वर धाम पहुंचेगी। भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली के धाम पहुंचने पर भगवान मदमहेश्वर के कपाट वेद ऋचाओं के साथ सैकड़ों श्रद्धालुओ की मौजूदगी में ग्रीष्मकाल के लिए खोल दिये जायेंगे।

 

तीर्थ यात्रियों के मदमहेश्वर घाटी आवागमन से विभिन्न यात्रा पड़ावों पर रौनक लौटने लग गयी है। बुधवार को ब्रह्म बेला मदमहेश्वर धाम के प्रधान पुजारी शिव शंकर लिंग ने राकेश्वरी मन्दिर रांसी में पंचाग पूजन के तहत भगवान मदमहेश्वर, भगवती राकेश्वरी सहित तैंतीस कोटि देवी-देवताओं का आहवान कर आरती उतारी तथा ठीक आठ बजे प्रातः भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली राकेश्वरी मंदिर से गौंडार गांव के लिए रवाना हुई तो सैकड़ों भक्तों की जयकारों से सम्पूर्ण भूभाग गुंजायमान हो उठा। भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली ने राकेश्वरी मंदिर की तीन परिक्रमा की तथा ग्रामीणों ने भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली पर लाल-पीले वस्त्र अर्पित कर क्षेत्र के खुशहाली की कामना की।

 

भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली के गौंडार गांव पहुंचने पर ग्रामीणों ने अनेक प्रकार की पूजा सामग्रियों से अघ्र्य लगाकर मनौती मांगी। आज भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली धाम पहुंचेगी तथा डोली के धाम पहुंचने पर भगवान मदमहेश्वर के कपाट लगभग 11 बजे कर्क लगन में वेद ऋचाओं के साथ ग्रीष्मकाल के लिए खोल दिये जायेंगे। डोली प्रभारी दीपक पंवार ने बताया कि विभिन्न क्षेत्रों के लगभग 113 श्रद्धालु भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली की अगुवाई कर रहे हैं तथा मदमहेश्वर यात्रा पड़ावों पर तीर्थ यात्रियों के आवागमन से रौनक लौटने लगी है.

 

इस मौके पर बद्री केदार मन्दिर समिति पूर्व सदस्य शिव सिंह रावत, राकेश्वरी मन्दिर समिति अध्यक्ष जगत सिंह पंवार, वन पंचायत सरपंच फापंज कुंवर सिंह नेगी, भंडारी मदन सिंह पंवार, प्रधान बीर सिंह पंवार, शिक्षाविद धीर सिंह रावत, हरेन्द्र खोयाल, अभ्युदय जमलोकी, वेद प्रकाश जमलोकी, कलम सिंह पंवार, दरवान सिंह पंवार, शिशुपाल सिंह पंवार, सुनीता पंवार, मदन सिंह नेगी, मनीष तिवारी, विश्वेश्वर शैव, एसआई विजय प्रताप राही, कैलाश सिंह, अनुराग, राजस्व उप निरीक्षक दिवाकर डिमरी, सतीश भटट सहित देश-विदेश के सैकड़ों श्रद्धालु हक-हकूकधारी ग्रामीण मौजूद थे।

 

 

 

 

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top