रुद्रप्रयाग जिला कार्यालय और बेलनी वाला क्षेत्र होगा रेगुलर पुलिस में शामिल..
उत्तराखंड

रुद्रप्रयाग जिला कार्यालय और बेलनी वाला क्षेत्र होगा रेगुलर पुलिस में शामिल..

डीजीपी ने रुद्रप्रयाग में किया जन संवाद कार्यक्रम और सुनी पुलिस कर्मियों की समस्याएं..

आम जनता और पुलिस के बीच होगा मित्रता का व्यवहार: डीजीपी..

रुद्रप्रयाग: रुद्रप्रयाग में जन संवाद कार्यक्रम में शिरकत करते हुये पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि पूरे प्रदेश में अच्छी व्यवस्था देने के प्रयास किये जा रहे हैं। अपराधियों के अलावा आम जनता को पुलिस से डरने की जरूरत नहीं है। पुलिस जनता की सेवा के लिये हमेशा तत्पर है। उन्होंने कहा कि रुद्रप्रयाग में बेलनी और जिला कार्यालय वाले क्षेत्र को रेगुलर पुलिस में शामिल करने की सैद्धांतिक स्वीकृति मिल चुकी है। शासन से वार्ता करने के बाद इस क्षेत्र को रेगुलर पुलिस में शामिल किया जायेगा।

 

डीजीपी ने कहा कि चोपता-तुंगनाथ पैदल ट्रैक आज काफी विकसित हो गया है। वर्षभर यहां लाखों की संख्या में पर्यटक और यात्री पहुंच रहे हैं। ऐसे में चोपता में पुलिस चौकी खोलने की मांग हो रही है। उन्होंने कहा कि चोपता में पुलिस चैकी खोलने के लिये सैद्धांतिक स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। चोपता में पुलिस चौकी खुलने के बाद यात्रियों और पर्यटकों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। उन्होंने कहा कि रुद्रप्रयाग बद्री-केदार यात्रा का मुख्य पड़ाव है, जहां प्रत्येक वर्ष लाखों यात्री पहुंचते हैं, ऐसे में पुलिस की जिम्मेदारी भी अधिक बढ़ जाती है। डीजीपी अशोक कुमार ने जन संवाद के दौरान जनता द्वारा दिये गये सुझावों पर भी चर्चा की।

 

उन्होंने जनता को संबोधित करते हुये कहा कि आम जनता को भी समाज में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिये। जब हम सभी अपने कर्तव्यों के प्रति सजग होंगे तो अपराधों पर भी रोक लगेगी। समाज में आज नशे की प्रवृत्ति बढ़ रही है। नशे के प्रति भी स्वयं जागरूक होकर दूसरे को भी जागरूक करना होगा। इस दौरान डीजीपी ने पुलिस सम्मेलन कार्यक्रम में पुलिस कर्मियों की समस्याएं भी सुनी और समस्याओं के निराकरण का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों को जनता के बीच मित्रता का व्यवहार करना चाहिये। पुलिस कर्मचारियों की हर समस्या का निराकरण करने के भी प्रयास किये जा रहे हैं।

 

स्थानांतरण नीति पुलिस में प्रारंभ की गई है। जन संवाद कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य नरेन्द्र बिष्ट, सामाजिक कार्यकर्ता बिपिन सेमवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष कांग्रेस प्रदीप बगवाड़ी, पूर्व प्रधान खांखरा प्रदीप मलासी सहित कई लोगों ने अपने सुझाव दिये। जिन पर डीजीपी ने चर्चा भी की। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, विधायक भरत सिंह चौधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल, जिलाधिकारी मनुज गोयल, पुलिस अधीक्षक नवनीत भुल्लर, व्यापारी हरि सिंह बिष्ट सहित अन्य मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन सेवा योजना विभाग के किशन रावत ने किया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top