उत्तराखंड

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य करने की जरूरत: नरेश..

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य करने की जरूरत: नरेश..

सीडीओ ने ली रेखीय विभाग, खंड विकास, ग्राम विकास एवं रोजगार सेवकों की बैठक..

अधिकारियों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने के दिए निर्देश..

 

 

 

 

 

 

रुद्रप्रयाग। जनपद में विभिन्न रेखीय विभागों के माध्यम से संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत व्यक्तियों को उपलब्ध कराने एवं उनकी आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन में संबंधित रेखीय विभागीय अधिकारियों, खंड विकास अधिकारियों, ग्राम विकास अधिकारियों एवं रोजगार सेवकों के साथ बैठक आयोजित की गई। जिसमें स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाने तथा आय में वृद्धि कराने के उद्देश्य से विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए गए।

मुख्य विकास अधिकारियों ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लखपति दीदी योजना संचालित की गई है, जिसके माध्यम से महिला समूहों के माध्यम से विभिन्न विभागों द्वारा संचालित विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराए जाने एवं उनकी आर्थिकी को मजबूत करते हुए उनको आत्मनिर्भर बनाया जाने की दिशा में कार्य किया जाना है। उन्होंने कहा कि जनपद में 1500 महिला समूह हैं, जिनमें 10 हजार महिलाएं जुड़ी हैं तथा उन महिलाओं की आर्थिकी को मजबूत करने एवं स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न विभागों जैसे ग्राम्य विकास विभाग द्वारा संचालित मनरेगा के तहत, उद्यान विभाग, रेशम विभाग, मत्स्य, कृषि, पशुपालन, आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी तथा पर्यटन सहित अन्य क्षेत्रों में संचालित योजनाओं से उन्हें कैसे लाभान्वित किया जाए।

इसके लिए कार्य योजना तैयार की जानी है। उन्होंने कहा कि महिला समूह से जुड़ी सभी 10 हजार महिलाओं को लखपति दीदी योजना से लाभान्वित करने के लिए सभी विभागों को बेहतर से बेहतर कार्ययोजना तैयार करते हुए उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में आपसी समन्वय के साथ कार्य करने की जरूरत है, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराते हुए उनकी आजीविका में वृद्धि होने के साथ-साथ उनकी आर्थिकी को भी मजबूत किया जा सके। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में जो भी स्वरोजगार की योजनाएं संचालित हो रही हैं, उन योजनाओं में सभी अधिकारी संवेदनशीलता के साथ कार्य करते हुए अधिक से अधिक लोगों को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि योजनाओं के संचालन में किसी प्रकार की कोई परेशानी हो रही है तो इस संबंध में अवगत करा सकते हैं। जिससे कि तत्परता से उस समस्या का समाधान करते हुए योजना का सफल क्रियान्वयन किया जा सके।

बैठक में जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, जिला उद्यान अधिकारी योगेंद्र सिह चौधरी, जिला कार्यक्रम अधिकारी शैली प्रजापति, खंड विकास अधिकारी जखोली सूर्यप्रकाश शाह, ऊखीमठ दिनेश मैठाणी, अगस्त्यमुनि प्रवीण भट्ट सहित ग्राम विकास अधिकारी, रोजगार सेवक सहित संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

 

 

 

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top