उत्तराखंड में 37 दिन में 46 कोरोना पॉजिटिव मामले... - UK News Network
उत्तराखंड

उत्तराखंड में 37 दिन में 46 कोरोना पॉजिटिव मामले…

-रेड जॉन  देहरादून में सबसे ज्यादा 24 केस

-आजाद कॉलोनी में दूसरे दिन भी सामने आए दो और कोरोना पॉजिटिव

– रेड जोन घोषित देहरादून में स्थिति बनी चिंताजनक, अधिकांश पॉजिटिव जमाती

-दून में अभी तक 11 मरीज हो चुके ठीक, 13 कोरोना पॉजिटिव भर्ती

देहरादून। उत्तराखंड में 37 दिन के भीतर 46 कोरोना मरीज सामने आए हैं। देहरादून में लगातार दूसरे दिन भी आजाद कॉलोनी में दो और कोरोना पॉजिटिव मिले। अब दून में कोरोना मरीजों की संख्या 24 पहुंच गई है। हालांकि राहत वाली बात यह है कि अभी तक पहाड़ के ज़िलों में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रित है। इसको आगे भी नियंत्रित रखा जाना जरूरी होगा। इधर, दून में सोमवार को आजाद नगर कॉलोनी को भी हॉट स्पॉट घोषित कर दिया। अब हॉटस्पॉट की संख्या देहरादून में सात हो गई है।

राज्य में सोमवार को भी कोरोना को लेकर चिंताजनक खबर आई है। लगातार मरीजों की संख्या बढ़ने से लोगों में दहशत बनी है। रविवार को देहरादून के आजादनगर कॉलोनी में जो कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, उनके साथ रह रहे दो और लोगों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। दोनों को दून अस्पताल में भर्ती कर दिया है। अब देहरादून में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 24 पहुंच गई है। इसमें एक मरीज एमएच और 12 दून अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें एक नो साल का बच्चा भी शामिल है। जबकि 11 मरीज अभी तक देहरादून में ठीक हो चुके हैं। इसके बाद नैनीताल में 9, हरिद्वार में 7, उधमसिंह नगर में चार और पौड़ी और अल्मोड़ा में एक एक मरीज सामने आया है। सोमवार को आई आई मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार राज्य में 109 रिपोर्ट में नेगिटिव आई है। जबकि विभिन्न केंद्रों में क्वारंटाइन किए गए 469 संदिग्धों की रिपोर्ट आनी बाकी है। इधर, देहरादून के आजाद नगर कॉलोनी को प्रशासन ने सील कर दिया है। इसको हॉट स्पॉट में शामिल कर दिया है। आईएसबीटी से लगी आजाद नगर कॉलोनी में पॉजिटिव मरीजों के मिलने से नामदेव कॉलोनी, टर्नर रोड समेत आसपास के इलाके के जो लोग संपर्क में आये हैं, उनको चिह्नित किया जा रहा है। अभी तक इन लोगों के संपर्क में 29 लोगों के आने की जानकारी मिली है।

बच्चे की संदिग्ध मौत पर सैम्पल जांच को भेजा

भगतसिंह कॉलोनी में सोमवार को एक बच्चे की संदिग्ध मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि सात माह का बच्चा दूध नहीं पी पा रहा था। बच्चे की मौत की असली बजह सामने नहीं आने पर उसका कोरोना का टेस्ट जांच को भेजा गया। हालांकि बच्चे की मां का सैम्पल पहले ही नेगिटिव आ चुका है। जांच रिपोर्ट आने के बाद इस मामले में कुछ कहा जा सकेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top